रोशनी की किरण

उस अंधेरे कमरे में बंध दरवाज़े के कोने से
एक रोशनी की किरण आ रही थी।

और फिर,

आंख खुली, सपना टूटा
दरवाज़े को खुला पाया
पर कमरे से भी ज़्यादा
अंधेरा कमरे के बाहर पाया।

Comments

0 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *